Pdf Download Exam Pattern Topic-wise

यदि आपने अपनी तैयारी पूरी कर ली है, तो इसकी तुलना लेख में दिए गए Bihar SI Syllabus in Hindi पीडीएफ से करें ताकि आपसे कोई भी टॉपिक या टॉपिक न छूटे।

Bihar SI भर्ती Bihar पुलिस भर्ती के लिए कराई जाती हैं Bihar SI सिलेबस हिंदी में पीडीएफ और किसी भी एग्जाम पैटर्न के बिना एग्जाम देना मुमकिन नही हैं इसलिए हमने आप सभी के लिए Bihar SI Syllabus की सम्पूर्ण जानकरी यहाँ उपलब्द कराई हैं

Bihar SI Syllabus in Hindi Pdf

बिहार पुलिस विभाग में उप-निरीक्षकों की भर्ती के लिए बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग (बीपीएसएससी) द्वारा बिहार एसआई (उप-निरीक्षक) परीक्षा आयोजित की जाती है। यहां बिहार एसआई परीक्षा के बारे में कुछ मुख्य विवरण दिए गए हैं:

पात्रता मापदंड:

आयु सीमा: सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम आयु सीमा आम तौर पर 20 वर्ष है, और अधिकतम आयु सीमा लगभग 37 वर्ष है। सरकारी नियमों के अनुसार आरक्षित श्रेणियों के उम्मीदवारों के लिए आयु में छूट प्रदान की जाती है।
शैक्षिक योग्यता: उम्मीदवारों के पास आम तौर पर किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री या समकक्ष योग्यता होनी चाहिए।

चयन प्रक्रिया:
बिहार एसआई परीक्षा के लिए चयन प्रक्रिया में आम तौर पर निम्नलिखित चरण शामिल होते हैं:

प्रारंभिक लिखित परीक्षा: यह एक वस्तुनिष्ठ प्रकार की परीक्षा है जो सामान्य जागरूकता, करंट अफेयर्स, रीजनिंग और गणित जैसे विषयों में उम्मीदवारों के ज्ञान का परीक्षण करती है।
मुख्य लिखित परीक्षा: प्रारंभिक परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवार मुख्य लिखित परीक्षा में बैठने के पात्र हैं, जो अधिक व्यापक है और इसमें सामान्य अध्ययन, सामान्य विज्ञान, नागरिक शास्त्र, भारतीय इतिहास, भूगोल, गणित और मानसिक क्षमता जैसे विषय शामिल हैं।

शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी): लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवारों को पीईटी के लिए बुलाया जाता है, जिसमें दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद आदि जैसे शारीरिक कार्य शामिल होते हैं।
मेडिकल परीक्षा: पीईटी के लिए अर्हता प्राप्त करने के बाद, उम्मीदवारों को यह सुनिश्चित करने के लिए एक मेडिकल परीक्षा से गुजरना होगा कि वे शारीरिक फिटनेस मानकों को पूरा करते हैं।

Pdf Download Exam Pattern Topic-wise 2

दस्तावेज़ सत्यापन: पिछले सभी चरणों को पास करने वाले उम्मीदवारों को दस्तावेज़ सत्यापन के लिए बुलाया जाता है, जहाँ उन्हें अपनी पात्रता सत्यापित करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ प्रदान करने होते हैं।
अंतिम मेरिट सूची: अंतिम मेरिट सूची चयन प्रक्रिया के सभी चरणों में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर तैयार की जाती है।

आवेदन प्रक्रिया:
बिहार एसआई परीक्षा के लिए आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन आयोजित की जाती है। इच्छुक उम्मीदवारों को बिहार पुलिस अधीनस्थ सेवा आयोग (बीपीएसएससी) की आधिकारिक वेबसाइट या भर्ती के लिए निर्दिष्ट पोर्टल पर जाना होगा, आवेदन पत्र भरना होगा, आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना होगा और आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा।

पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न:
बिहार एसआई परीक्षा के लिए विस्तृत पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न आमतौर पर आधिकारिक भर्ती अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर प्रदान किया जाता है। पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न के संबंध में सबसे सटीक और अद्यतन जानकारी के लिए आधिकारिक स्रोतों का संदर्भ लेना उचित है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि उपरोक्त जानकारी बिहार एसआई परीक्षा के सामान्य पैटर्न पर आधारित है, और वास्तविक परीक्षा में मामूली बदलाव या अपडेट हो सकते हैं। इसलिए, बिहार एसआई परीक्षा के संबंध में नवीनतम और सबसे सटीक जानकारी के लिए आधिकारिक अधिसूचनाओं और वेबसाइटों को देखने की सलाह दी जाती है।

बिहार एसआई परीक्षा का सिलेबस आम तौर पर विभिन्न विषयों को शामिल करता है। यहां आमतौर पर पाठ्यक्रम में शामिल विषयों का चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

SSC GD सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Subject,Topic-Wise Pdf Paper Download

UP SI सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Pdf Download Exam Pattern Topic-wise

SSC MTS Syllabus in Hindi { Paper I & II PDF Download } 

SSC CHSL सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download Tier 1 to 3 Topic-wise Pdf

NTPC सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download CBT 1 and 2 Topic-wise Pdf

प्रारंभिक लिखित परीक्षा:

सामान्य ज्ञान: वर्तमान घटनाएँ, भारतीय इतिहास, भारतीय भूगोल, भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था, सामान्य विज्ञान, आदि।
करेंट अफेयर्स: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम, खेल, पुरस्कार, पुस्तकें और लेखक, महत्वपूर्ण तिथियां, आदि।
तर्क: मौखिक और गैर-मौखिक तर्क, उपमाएँ, कोडिंग-डिकोडिंग, रक्त संबंध, निर्देश, न्यायशास्त्र, आदि।
गणित: संख्या प्रणाली, सरलीकरण, प्रतिशत, औसत, अनुपात और अनुपात, लाभ और हानि, समय और कार्य, समय और दूरी, आदि।
मुख्य लिखित परीक्षा:

सामान्य अध्ययन: भारतीय इतिहास, भारतीय भूगोल, भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और पारिस्थितिकी, आदि।
सामान्य विज्ञान: भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान, आदि।
नागरिक शास्त्र: भारतीय संविधान, शासन, लोक प्रशासन, अधिकार और कर्तव्य, आदि।
भारतीय इतिहास: प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारतीय इतिहास, कला और संस्कृति, स्वतंत्रता संग्राम, आदि।
भूगोल: भौतिक भूगोल, भारतीय भूगोल, विश्व भूगोल, पर्यावरण भूगोल, आदि।
गणित: संख्या प्रणाली, बीजगणित, ज्यामिति, क्षेत्रमिति, त्रिकोणमिति, सांख्यिकी, आदि।
मानसिक क्षमता: तार्किक तर्क, विश्लेषणात्मक क्षमता, डेटा व्याख्या, पहेलियाँ, आदि।
यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि उपरोक्त विषय बिहार एसआई परीक्षा के पाठ्यक्रम का एक सामान्य प्रतिनिधित्व है, और विशिष्ट विवरण भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक भर्ती अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सलाह दी जाती है।

इसके अतिरिक्त, परीक्षा की पूरी तैयारी के लिए प्रासंगिक अध्ययन सामग्री और पुस्तकों का संदर्भ लेने और पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करने की सिफारिश की जाती है।

यहां कुछ अतिरिक्त विषय हैं जो आमतौर पर बिहार एसआई पाठ्यक्रम में शामिल हैं:

सामान्य जागरूकता:

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय करंट अफेयर्स
खेल और क्रीड़ा
पुरस्कार और सम्मान
पुस्तकें और लेखक
प्रसिद्ध व्यक्तित्व
महत्वपूर्ण दिन और तारीखें
भारतीय संविधान
सरकारी योजनाएँ और नीतियाँ
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
भारत में सामाजिक और आर्थिक विकास
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास

सामान्य हिंदी:

व्याकरण (भाषण के भाग, क्रिया, विशेषण, क्रियाविशेषण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
रिक्त स्थान भरें
वाक्य सुधार
ग़लती ढूँढने वाला

सामान्य अंग्रेजी:

व्याकरण (काल, लेख, पूर्वसर्ग, ध्वनि, विवरण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
वाक्य पुनर्व्यवस्था
ग़लती ढूँढने वाला
रिक्त स्थान भरें

कंप्यूटर ज्ञान:

कंप्यूटर की मूल बातें
कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर
इंटरनेट और नेटवर्किंग
एमएस ऑफिस (वर्ड, एक्सेल, पावरपॉइंट)
कंप्यूटर संक्षिप्तीकरण
कंप्यूटर सुरक्षा और वायरस सुरक्षा
कंप्यूटर के बुनियादी सिद्धांत और शब्दावली
याद रखें, यह एक सामान्य अवलोकन है, और प्रत्येक विषय के विशिष्ट विषय और महत्व भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक बिहार एसआई परीक्षा अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट को देखने की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है।

पाठ्यक्रम का अध्ययन करने के अलावा, पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना और मॉक टेस्ट देना परीक्षा पैटर्न को समझने और समय प्रबंधन कौशल में सुधार करने में काफी मदद कर सकता है।

Bihar SI Mains Syllabus in Hindi 

यहां बिहार एसआई मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रम का चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

सामान्य हिंदी:

व्याकरण (भाषण के भाग, क्रिया, विशेषण, क्रियाविशेषण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
रिक्त स्थान भरें
वाक्य सुधार
ग़लती ढूँढने वाला

सामान्य अध्ययन:

भारतीय इतिहास (प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारत)
भारतीय भूगोल (भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल)
भारतीय राजनीति और शासन
भारतीय अर्थव्यवस्था (बुनियादी अवधारणाएँ, आर्थिक योजना, अर्थव्यवस्था के क्षेत्र)
विज्ञान और प्रौद्योगिकी
पर्यावरण और पारिस्थितिकी
करेंट अफेयर्स (राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय घटनाएँ)
पुरस्कार और सम्मान
खेल और क्रीड़ा
पुस्तकें और लेखक
महत्वपूर्ण दिन और तारीखें

सामान्य विज्ञान:

भौतिक विज्ञान
रसायन विज्ञान
जीव विज्ञान
पर्यावरण विज्ञान

नागरिक शास्त्र:

भारतीय संविधान
शासन एवं प्रशासन
सार्वजनिक नीतियां और योजनाएं
अधिकार और कर्तव्य
बिहार में स्थानीय सरकार

भारतीय इतिहास:

प्राचीन भारत के इतिहास
मध्यकालीन भारतीय इतिहास
आधुनिक भारतीय इतिहास
कला और संस्कृति
स्वतंत्रता संग्राम

भूगोल:

भौतिक भूगोल
भारतीय भूगोल
विश्व का भूगोल
पर्यावरण भूगोल
मानचित्र आधारित प्रश्न

अंक शास्त्र:

संख्या प्रणाली
बीजगणित
ज्यामिति
क्षेत्रमिति
त्रिकोणमिति
आंकड़े
संभावना

दिमागी क्षमता:

तार्किक विचार
विश्लेषणात्मक क्षमता
डेटा व्याख्या
पहेली
कोडिंग-डिकोडिंग
खून के रिश्ते
रणनीति

कृपया ध्यान दें कि उपरोक्त पाठ्यक्रम सामान्य पैटर्न पर आधारित है, और विशिष्ट विषय और वेटेज भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक बिहार एसआई मुख्य परीक्षा अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सिफारिश की जाती है।

बिहार एसआई मुख्य परीक्षा के लिए अपनी तैयारी को बेहतर बनाने के लिए प्रत्येक विषय के लिए पर्याप्त समय आवंटित करना, पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना और मॉक टेस्ट देना सुनिश्चित करें।

Bihar SI Pre Exam Syllabus in Hindi

यहां बिहार एसआई प्रारंभिक परीक्षा के पाठ्यक्रम का विषय-वार चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

सामान्य ज्ञान:

करेंट अफेयर्स: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाएँ, खेल, पुरस्कार, पुस्तकें और लेखक, महत्वपूर्ण तिथियाँ, आदि।
भारतीय इतिहास: प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारतीय इतिहास, कला और संस्कृति, स्वतंत्रता संग्राम, आदि।
भारतीय भूगोल: भारत का भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल, जलवायु, मिट्टी, प्राकृतिक संसाधन, आदि।
भारतीय राजनीति: भारतीय संविधान, मौलिक अधिकार, कर्तव्य, पंचायती राज व्यवस्था, आदि।
भारतीय अर्थव्यवस्था: बुनियादी आर्थिक अवधारणाएँ, भारत में योजना, गरीबी, बेरोजगारी, आर्थिक सुधार, आदि।
सामान्य विज्ञान: भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान, आदि।

सामयिकी:

राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक घटनाएँ
खेल और क्रीड़ा
पुरस्कार और सम्मान
पुस्तकें और लेखक
महत्वपूर्ण दिन और तारीखें

विचार:

मौखिक तर्क: उपमाएँ, वर्गीकरण, श्रृंखला, कोडिंग-डिकोडिंग, रक्त संबंध, दिशाएँ, आदि।
गैर-मौखिक तर्क: दर्पण छवियाँ, जल छवियाँ, कागज काटना और मोड़ना, श्रृंखला, आदि।
तार्किक तर्क: न्यायवाक्य, कथन और धारणाएँ, कथन और निष्कर्ष, कारण और प्रभाव, आदि।

अंक शास्त्र:

संख्या प्रणाली: एचसीएफ और एलसीएम, सरलीकरण, दशमलव, भिन्न, प्रतिशत, आदि।
अनुपात और अनुपात
औसत
समय और कार्य
समय और दूरी
लाभ और हानि
सरल एवं चक्रवृद्धि ब्याज
ज्यामिति
क्षेत्रमिति
डेटा व्याख्या

कृपया ध्यान दें कि उपरोक्त पाठ्यक्रम एक सामान्य प्रतिनिधित्व है और परिवर्तन के अधीन हो सकता है। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए आधिकारिक बिहार एसआई प्रारंभिक परीक्षा अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सिफारिश की जाती है।

प्रत्येक विषय के लिए पर्याप्त समय आवंटित करें, नमूना प्रश्नों का अभ्यास करें और बिहार एसआई प्रारंभिक परीक्षा के लिए अपनी तैयारी को बढ़ाने के लिए प्रासंगिक अध्ययन सामग्री देखें।

Bihar SI Syllabus and Exam Pattern

यहां बिहार एसआई (सब-इंस्पेक्टर) परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न का चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

प्रारंभिक परीक्षा:

विषय: सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स, रीजनिंग और गणित।
परीक्षा का प्रकार: वस्तुनिष्ठ प्रकार के बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू)।
कुल अंक: प्रारंभिक परीक्षा आम तौर पर 200 अंकों के लिए आयोजित की जाती है।
अवधि: प्रारंभिक परीक्षा की अवधि आमतौर पर 2 घंटे होती है।

मुख्य परीक्षा:

विषय: सामान्य अध्ययन, सामान्य विज्ञान, नागरिक शास्त्र, भारतीय इतिहास, भूगोल, गणित और मानसिक क्षमता।
परीक्षा का प्रकार: मुख्य परीक्षा में वर्णनात्मक प्रकार के प्रश्न होते हैं।
कुल अंक: मुख्य परीक्षा आम तौर पर 200 अंकों के लिए आयोजित की जाती है।
अवधि: मुख्य परीक्षा की अवधि आमतौर पर 2 घंटे होती है।

शारीरिक दक्षता परीक्षण (पीईटी):

लिखित परीक्षा (प्रारंभिक और मुख्य) में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवार पीईटी के लिए पात्र हैं।
पीईटी में दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद आदि जैसे शारीरिक कार्य शामिल होते हैं।
पीईटी के लिए विशिष्ट आवश्यकताएं और कार्य बिहार पुलिस भर्ती बोर्ड द्वारा निर्धारित किए जाते हैं।

चिकित्सा परीक्षण:

पीईटी के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को मेडिकल परीक्षा के लिए बुलाया जाता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे एसआई पद के लिए आवश्यक शारीरिक फिटनेस मानकों को पूरा करते हैं।
चिकित्सा परीक्षा उम्मीदवारों के समग्र स्वास्थ्य और फिटनेस का आकलन करती है।

दस्तावेज़ सत्यापन:

पिछले सभी चरणों के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को दस्तावेज़ सत्यापन के लिए बुलाया जाता है।
उम्मीदवारों को अपनी पात्रता, शैक्षणिक योग्यता, आयु, जाति श्रेणी आदि को सत्यापित करने के लिए आवश्यक दस्तावेज और प्रमाण पत्र प्रदान करने होंगे।

अंतिम मेरिट सूची:

अंतिम मेरिट सूची सभी चरणों (प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, पीईटी और मेडिकल परीक्षा) में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर तैयार की जाती है।

अंतिम मेरिट सूची बिहार एसआई पद के लिए उम्मीदवारों की रैंकिंग और चयन निर्धारित करती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बिहार एसआई पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न परिवर्तन के अधीन हो सकते हैं। पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न पर सबसे सटीक और अद्यतन जानकारी के लिए आधिकारिक बिहार पुलिस भर्ती बोर्ड अधिसूचना या आधिकारिक वेबसाइट देखने की सलाह दी जाती है।

इसके अतिरिक्त, उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे बिहार एसआई परीक्षा की प्रभावी तैयारी के लिए प्रासंगिक अध्ययन सामग्री देखें, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करें और मॉक टेस्ट दें।

Bihar SI Syllabus in Hindi Pdf Download

यहां बिहार एसआई मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रम का चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

सामान्य हिंदी:

व्याकरण (भाषण के भाग, क्रिया, विशेषण, क्रियाविशेषण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
रिक्त स्थान भरें
वाक्य सुधार
ग़लती ढूँढने वाला

SSC GD सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Subject,Topic-Wise Pdf Paper Download

UP SI सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Pdf Download Exam Pattern Topic-wise

SSC MTS Syllabus in Hindi { Paper I & II PDF Download } 

SSC CHSL सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download Tier 1 to 3 Topic-wise Pdf

NTPC सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download CBT 1 and 2 Topic-wise Pdf

सामान्य अध्ययन:

भारतीय इतिहास (प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारत)
भारतीय भूगोल (भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल)
भारतीय राजनीति और शासन
भारतीय अर्थव्यवस्था (बुनियादी अवधारणाएँ, आर्थिक योजना, अर्थव्यवस्था के क्षेत्र)
विज्ञान और प्रौद्योगिकी
पर्यावरण और पारिस्थितिकी
करेंट अफेयर्स (राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय घटनाएँ)
पुरस्कार और सम्मान
खेल और क्रीड़ा
पुस्तकें और लेखक
महत्वपूर्ण दिन और तारीखें

सामान्य विज्ञान:

भौतिक विज्ञान
रसायन विज्ञान
जीव विज्ञान
पर्यावरण विज्ञान

नागरिक शास्त्र:

भारतीय संविधान
शासन एवं प्रशासन
सार्वजनिक नीतियां और योजनाएं
अधिकार और कर्तव्य
बिहार में स्थानीय सरकार

भारतीय इतिहास:

प्राचीन भारत के इतिहास
मध्यकालीन भारतीय इतिहास
आधुनिक भारतीय इतिहास
कला और संस्कृति
स्वतंत्रता संग्राम

भूगोल:

भौतिक भूगोल
भारतीय भूगोल
विश्व का भूगोल
पर्यावरण भूगोल
मानचित्र आधारित प्रश्न

अंक शास्त्र:

संख्या प्रणाली
बीजगणित
ज्यामिति
क्षेत्रमिति
त्रिकोणमिति
आंकड़े
संभावना

दिमागी क्षमता:

तार्किक विचार
विश्लेषणात्मक क्षमता
डेटा व्याख्या
पहेली
कोडिंग-डिकोडिंग
खून के रिश्ते
रणनीति

कृपया ध्यान दें कि उपरोक्त पाठ्यक्रम सामान्य पैटर्न पर आधारित है, और विशिष्ट विषय और वेटेज भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक बिहार एसआई मुख्य परीक्षा अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सिफारिश की जाती है।

बिहार एसआई मुख्य परीक्षा के लिए अपनी तैयारी को बेहतर बनाने के लिए प्रत्येक विषय के लिए पर्याप्त समय आवंटित करना, पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना और मॉक टेस्ट देना सुनिश्चित करें।

बिहार एसआई परीक्षा का सिलेबस आम तौर पर विभिन्न विषयों को शामिल करता है। यहां आमतौर पर पाठ्यक्रम में शामिल विषयों का चरण-दर-चरण विवरण दिया गया है:

प्रारंभिक लिखित परीक्षा:

सामान्य ज्ञान: वर्तमान घटनाएँ, भारतीय इतिहास, भारतीय भूगोल, भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था, सामान्य विज्ञान, आदि।
करेंट अफेयर्स: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम, खेल, पुरस्कार, पुस्तकें और लेखक, महत्वपूर्ण तिथियां, आदि।
तर्क: मौखिक और गैर-मौखिक तर्क, उपमाएँ, कोडिंग-डिकोडिंग, रक्त संबंध, निर्देश, न्यायशास्त्र, आदि।
गणित: संख्या प्रणाली, सरलीकरण, प्रतिशत, औसत, अनुपात और अनुपात, लाभ और हानि, समय और कार्य, समय और दूरी, आदि।
मुख्य लिखित परीक्षा:

सामान्य अध्ययन: भारतीय इतिहास, भारतीय भूगोल, भारतीय राजनीति, भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और पारिस्थितिकी, आदि।
सामान्य विज्ञान: भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान, आदि।
नागरिक शास्त्र: भारतीय संविधान, शासन, लोक प्रशासन, अधिकार और कर्तव्य, आदि।
भारतीय इतिहास: प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक भारतीय इतिहास, कला और संस्कृति, स्वतंत्रता संग्राम, आदि।
भूगोल: भौतिक भूगोल, भारतीय भूगोल, विश्व भूगोल, पर्यावरण भूगोल, आदि।
गणित: संख्या प्रणाली, बीजगणित, ज्यामिति, क्षेत्रमिति, त्रिकोणमिति, सांख्यिकी, आदि।
मानसिक क्षमता: तार्किक तर्क, विश्लेषणात्मक क्षमता, डेटा व्याख्या, पहेलियाँ, आदि।
यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि उपरोक्त विषय बिहार एसआई परीक्षा के पाठ्यक्रम का एक सामान्य प्रतिनिधित्व है, और विशिष्ट विवरण भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक भर्ती अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सलाह दी जाती है।

इसके अतिरिक्त, परीक्षा की पूरी तैयारी के लिए प्रासंगिक अध्ययन सामग्री और पुस्तकों का संदर्भ लेने और पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करने की सिफारिश की जाती है।

यहां कुछ अतिरिक्त विषय हैं जो आमतौर पर बिहार एसआई पाठ्यक्रम में शामिल हैं:

सामान्य जागरूकता:

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय करंट अफेयर्स
खेल और क्रीड़ा
पुरस्कार और सम्मान
पुस्तकें और लेखक
प्रसिद्ध व्यक्तित्व
महत्वपूर्ण दिन और तारीखें
भारतीय संविधान
सरकारी योजनाएँ और नीतियाँ
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
भारत में सामाजिक और आर्थिक विकास
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास

सामान्य हिंदी:

व्याकरण (भाषण के भाग, क्रिया, विशेषण, क्रियाविशेषण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
रिक्त स्थान भरें
वाक्य सुधार
ग़लती ढूँढने वाला

सामान्य अंग्रेजी:

व्याकरण (काल, लेख, पूर्वसर्ग, ध्वनि, विवरण, आदि)
शब्दावली (समानार्थी, विलोम, एक-शब्द प्रतिस्थापन)
मुहावरे और वाक्यांश
समझ
वाक्य पुनर्व्यवस्था
ग़लती ढूँढने वाला
रिक्त स्थान भरें

कंप्यूटर ज्ञान:

कंप्यूटर की मूल बातें
कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर
इंटरनेट और नेटवर्किंग
एमएस ऑफिस (वर्ड, एक्सेल, पावरपॉइंट)
कंप्यूटर संक्षिप्तीकरण
कंप्यूटर सुरक्षा और वायरस सुरक्षा
कंप्यूटर के बुनियादी सिद्धांत और शब्दावली
याद रखें, यह एक सामान्य अवलोकन है, और प्रत्येक विषय के विशिष्ट विषय और महत्व भिन्न हो सकते हैं। सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए, आधिकारिक बिहार एसआई परीक्षा अधिसूचना या बीपीएसएससी की आधिकारिक वेबसाइट को देखने की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है।

पाठ्यक्रम का अध्ययन करने के अलावा, पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करना और मॉक टेस्ट देना परीक्षा पैटर्न को समझने और समय प्रबंधन कौशल में सुधार करने में काफी मदद कर सकता है।

How to Crack Bihar SI Exam in Hindi

बिहार एसआई (सब-इंस्पेक्टर) परीक्षा को क्रैक करने के लिए गहन तैयारी और रणनीतिक दृष्टिकोण की आवश्यकता होती है। बिहार एसआई परीक्षा की तैयारी में आपकी मदद के लिए यहां चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका दी गई है:

परीक्षा पैटर्न और सिलेबस को समझें:

प्रत्येक चरण के लिए चरणों की संख्या, विषयों, अंक और अवधि सहित परीक्षा पैटर्न से खुद को परिचित करें।
बिहार पुलिस भर्ती बोर्ड द्वारा प्रदान किया गया विस्तृत पाठ्यक्रम पढ़ें।
पाठ्यक्रम को विषयों में विभाजित करें और एक अध्ययन योजना बनाएं।

अध्ययन सामग्री एकत्रित करें:

पाठ्यपुस्तकों, संदर्भ पुस्तकों और ऑनलाइन संसाधनों सहित प्रासंगिक अध्ययन सामग्री एकत्र करें जो पाठ्यक्रम में विषयों को कवर करती हैं।
परीक्षा पैटर्न का अंदाजा लगाने के लिए पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों को देखें और उन्हें हल करने का अभ्यास करें।

एक अध्ययन योजना बनाएं:

एक अध्ययन कार्यक्रम तैयार करें जिसमें पाठ्यक्रम के सभी विषय और विषय शामिल हों।
अपनी ताकत और कमजोरियों के आधार पर प्रत्येक विषय के लिए पर्याप्त समय आवंटित करें।
अपनी प्रगति पर नज़र रखने के लिए यथार्थवादी लक्ष्य और समय सीमा निर्धारित करें।

वैचारिक समझ पर ध्यान दें:

मौलिक अवधारणाओं को समझकर प्रत्येक विषय में एक मजबूत आधार विकसित करें।
अध्ययन सामग्री, ऑनलाइन ट्यूटोरियल या विषय विशेषज्ञों से मार्गदर्शन प्राप्त करके किसी भी संदेह को दूर करें।

अभ्यास और पुनरीक्षण:

अपनी गति और सटीकता में सुधार के लिए प्रत्येक विषय से प्रश्नों को नियमित रूप से हल करने का अभ्यास करें।
अपने प्रदर्शन का आकलन करने और उन क्षेत्रों की पहचान करने के लिए मॉक टेस्ट लें और परीक्षा जैसी स्थितियों का अनुकरण करें जिनमें सुधार की आवश्यकता है।
अपनी शिक्षा को मजबूत करने और महत्वपूर्ण जानकारी को बनाए रखने के लिए नियमित रूप से रिवीजन करें।

करेंट अफेयर्स से अपडेट रहें:

समाचार पत्रों, पत्रिकाओं या ऑनलाइन समाचार पोर्टलों को नियमित रूप से पढ़कर समसामयिक मामलों से अपडेट रहें।
राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं, खेल, पुरस्कार, सरकारी योजनाओं और महत्वपूर्ण तिथियों पर ध्यान दें।

समय प्रबंधन और परीक्षा रणनीति में सुधार करें:

अपनी तैयारी के दौरान प्रत्येक अनुभाग या विषय के लिए समय सीमा निर्धारित करके समय प्रबंधन का अभ्यास करें।
प्रभावी परीक्षा रणनीतियाँ विकसित करें जैसे पहले प्रयास करने के लिए आसान प्रश्नों की पहचान करना और परीक्षा के दौरान बुद्धिमानी से समय का प्रबंधन करना।

शारीरिक स्वास्थ्य और पीईटी तैयारी:

नियमित शारीरिक व्यायाम, दौड़ना और लंबी कूद और ऊंची कूद जैसी गतिविधियों का अभ्यास करके शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी) की तैयारी करें।
शारीरिक फिटनेस और सहनशक्ति सुनिश्चित करने के लिए स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखें।

मार्गदर्शन और सहायता लें:

ऐसे कोचिंग संस्थानों या ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म से जुड़ें जो विशेष रूप से बिहार एसआई परीक्षा के लिए मार्गदर्शन और मॉक टेस्ट प्रदान करते हैं।
ज्ञान साझा करने, अध्ययन रणनीतियों पर चर्चा करने और एक-दूसरे को प्रेरित करने के लिए साथी उम्मीदवारों से जुड़ें।

शांत और आश्वस्त रहें:

सकारात्मक मानसिकता विकसित करें और परीक्षा के दौरान शांत रहें।
विश्राम तकनीकों का अभ्यास करें और स्वस्थ कार्य-जीवन संतुलन बनाए रखें।

याद रखें, बिहार एसआई परीक्षा में सफलता के लिए लगातार प्रयास, समर्पण और दृढ़ता की आवश्यकता होती है। अपनी ताकत और कमजोरियों के आधार पर इस गाइड को अनुकूलित करें और आवश्यकतानुसार अपनी अध्ययन योजना को अनुकूलित करें। आपकी परीक्षा की तैयारी के लिए शुभकामनाएँ!

बिहार दरोगा गणित सिलेबस

यहां अंग्रेजी में बिहार एसआई (सब-इंस्पेक्टर) गणित का पाठ्यक्रम दिया गया है:

संख्या प्रणाली:

संख्या श्रृंखला: संख्याओं के बीच पैटर्न और संबंध, सरलीकरण, भिन्न, दशमलव, एचसीएफ और एलसीएम, समय और कार्य, अनुपात और अनुपात, औसत, प्रतिशत।
बीजगणित:

बीजीय व्यंजक और सर्वसमिकाएँ, रैखिक समीकरण, द्विघात समीकरण, बहुपद, गुणनखंड और शेषफल प्रमेय।
ज्यामिति:

रेखाएँ और कोण, त्रिभुज, चतुर्भुज, वृत्त, क्षेत्रफल और परिधि, ज्यामितीय आकृतियों का आयतन और सतह क्षेत्र, समन्वय ज्यामिति।
क्षेत्रमिति:

समतल आकृतियों का परिमाप और क्षेत्रफल (वर्ग, आयत, त्रिभुज, वृत्त), ठोस आकृतियों का आयतन और सतह क्षेत्रफल (घन, घनाभ, बेलन, शंकु, गोला)।
त्रिकोणमिति:

त्रिकोणमितीय अनुपात, त्रिकोणमितीय पहचान, ऊँचाई और दूरियाँ।
सांख्यिकी:

डेटा का संग्रह और प्रस्तुति, केंद्रीय प्रवृत्ति के माप (माध्य, माध्य, मोड), फैलाव के माप (सीमा, विचरण, मानक विचलन), और संभाव्यता।

कृपया ध्यान दें कि यह बिहार एसआई परीक्षा के लिए गणित पाठ्यक्रम का एक सामान्य प्रतिनिधित्व है। वास्तविक पाठ्यक्रम भिन्न हो सकता है, और सबसे सटीक और अद्यतन पाठ्यक्रम के लिए आधिकारिक बिहार पुलिस भर्ती बोर्ड अधिसूचना या आधिकारिक वेबसाइट देखने की सिफारिश की जाती है।

सुनिश्चित करें कि प्रत्येक विषय का गहन अध्ययन करें, प्रश्नों को हल करने का अभ्यास करें और अपनी समझ को मजबूत करने और बिहार एसआई परीक्षा के गणित अनुभाग में अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए प्रासंगिक अध्ययन सामग्री देखें।

SSC GD सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Subject,Topic-Wise Pdf Paper Download

UP SI सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Pdf Download Exam Pattern Topic-wise

SSC MTS Syllabus in Hindi { Paper I & II PDF Download } 

SSC CHSL सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download Tier 1 to 3 Topic-wise Pdf

NTPC सिलेबस हिंदी में पीडीएफ 2024: Download CBT 1 and 2 Topic-wise Pdf

बिहार एसआई पाठ्यक्रम से संबंधित सामान्य प्रश्न

दरोगा बनने के लिए कितना पढ़ा लिखा होना चाहिए?

कुछ में, एक हाई स्कूल डिप्लोमा या समकक्ष एक इंस्पेक्टर के रूप में करियर शुरू करने के लिए पर्याप्त हो सकता है, खासकर प्रवेश स्तर के पदों के लिए। हालाँकि, कुछ क्षेत्रों या विशेष निरीक्षणों के लिए माध्यमिक शिक्षा या विशिष्ट प्रमाणपत्रों की आवश्यकता हो सकती है।

बिहार इंस्पेक्टर में कितने पेपर होते हैं?

प्रीलिम्स परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा का सामना करना होगा। मुख्य परीक्षा में दो पेपर शामिल होंगे, अर्थात् पेपर I और पेपर II

क्या इंस्पेक्टर के लिए कोई इंटरव्यू है?

इंस्पेक्टर पदों के लिए चयन प्रक्रिया में साक्षात्कार का समावेश विशिष्ट भूमिका, संगठन और देश या क्षेत्र के आधार पर भिन्न हो सकता है। कुछ मामलों में, साक्षात्कार चयन प्रक्रिया का हिस्सा हो सकता है, जबकि अन्य में, इसकी आवश्यकता नहीं हो सकती है।

दरोगा के लिए क्या क्या पढ़ना चाहिए?

प्रासंगिक कानून और विनियम: निरीक्षण के उस क्षेत्र के लिए विशिष्ट कानूनों और विनियमों का अध्ययन करें जिनमें आपकी रुचि है, चाहे वह भवन निरीक्षण, खाद्य सुरक्षा, व्यावसायिक स्वास्थ्य और सुरक्षा, या पर्यावरणीय अनुपालन हो।

उद्योग मानक और दिशानिर्देश: अपने आप को उद्योग-विशिष्ट मानकों और दिशानिर्देशों से परिचित कराएं जो आपके द्वारा किए जा रहे निरीक्षण के क्षेत्र को नियंत्रित करते हैं। ये मानक उद्योग में अनुपालन और सर्वोत्तम प्रथाओं के लिए मानक प्रदान करते हैं।

निरीक्षण मैनुअल और गाइड: निरीक्षण मैनुअल और गाइड देखें जो निरीक्षण करने के लिए विस्तृत निर्देश और प्रोटोकॉल प्रदान करते हैं। ये संसाधन निरीक्षण के दौरान अपनाई जाने वाली विशिष्ट प्रक्रियाओं और मानदंडों की रूपरेखा तैयार करते हैं।

केस स्टडीज और उदाहरण: जिस निरीक्षण क्षेत्र के लिए आप तैयारी कर रहे हैं, उससे संबंधित केस स्टडीज और उदाहरणों की समीक्षा करें। वे उद्योग के भीतर व्यावहारिक अनुप्रयोगों, चुनौतियों और समाधानों को समझने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

करंट अफेयर्स और अपडेट: निरीक्षण के क्षेत्र में करंट अफेयर्स, समाचार और विकास पर अपडेट रहें। यह सुनिश्चित करता है कि आप नियमों, उभरते रुझानों या नई तकनीकों में किसी भी बदलाव से अवगत हैं जो निरीक्षण को प्रभावित कर सकता है।

दरोगा की पढ़ाई कैसे करें?

आवश्यकताओं को समझें: प्रासंगिक कानून, विनियमों और उद्योग मानकों सहित इंस्पेक्टर भूमिका की विशिष्ट आवश्यकताओं से खुद को परिचित करें।

अध्ययन सामग्री व्यवस्थित करें: अपने निरीक्षण क्षेत्र से संबंधित पाठ्यपुस्तकें, संदर्भ मार्गदर्शिकाएँ, मैनुअल, विनियम और उद्योग-विशिष्ट संसाधन जैसी अध्ययन सामग्री इकट्ठा करें।

एक अध्ययन योजना बनाएं: एक अध्ययन योजना विकसित करें जिसमें उन विषयों की रूपरेखा हो जिन्हें आपको कवर करने की आवश्यकता है, और प्रत्येक विषय के लिए समय आवंटित करें। यह आपको व्यवस्थित रहने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आपके पास सभी आवश्यक सामग्रियां उपलब्ध हैं।

प्रमुख विषयों पर ध्यान दें: अपनी निरीक्षण भूमिका के लिए आवश्यक ज्ञान के प्रमुख क्षेत्रों की पहचान करें और उन विषयों के अध्ययन को प्राथमिकता दें। अपने क्षेत्र के विशिष्ट कानूनों, विनियमों, प्रक्रियाओं और सर्वोत्तम प्रथाओं पर ध्यान दें।

नोट्स लें और सारांशित करें: अध्ययन करते समय, महत्वपूर्ण जानकारी को बनाए रखने में मदद के लिए नोट्स लें। अपनी समझ को सुदृढ़ करने के लिए मुख्य बिंदुओं, परिभाषाओं और अवधारणाओं को अपने शब्दों में सारांशित करें।

नमूना प्रश्नों के साथ अभ्यास करें: अपने निरीक्षण क्षेत्र से संबंधित नमूना प्रश्न या पिछले परीक्षा पत्र खोजें। परीक्षा प्रारूप से परिचित होने और अपने ज्ञान का परीक्षण करने के लिए उनके उत्तर देने का अभ्यास करें।

अतिरिक्त संसाधनों का अन्वेषण करें: विषय वस्तु में गहरी जानकारी प्राप्त करने के लिए अपनी अध्ययन सामग्री को अतिरिक्त संसाधनों जैसे ऑनलाइन पाठ्यक्रम, ट्यूटोरियल, वेबिनार और कार्यशालाओं के साथ पूरक करें।

अध्ययन समूहों या चर्चा मंचों में शामिल हों: अध्ययन समूहों या ऑनलाइन चर्चा मंचों में शामिल होकर पर्यवेक्षक भूमिकाओं की तैयारी कर रहे अन्य लोगों से जुड़ें। यह आपको ज्ञान साझा करने, विचारों का आदान-प्रदान करने और एक-दूसरे से सीखने की अनुमति देता है।

अपडेट रहें: वर्तमान मामलों, उद्योग समाचार और नियमों या मानकों में किसी भी बदलाव से अवगत रहें जो एक निरीक्षक के रूप में आपकी भूमिका को प्रभावित कर सकता है।

समीक्षा करें और संशोधित करें: अपनी अध्ययन सामग्री की नियमित रूप से समीक्षा करें और अपनी समझ को मजबूत करने और जानकारी की दीर्घकालिक अवधारण सुनिश्चित करने के लिए मुख्य अवधारणाओं को संशोधित करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top